Short Essay on 'Ramdhari Singh Dinkar' in Hindi | 'Ramdhari Singh Dinkar' par Nibandh (100 Words)

Tuesday, April 16, 2013

रामधारी सिंह 'दिनकर'

'रामधारी सिंह दिनकर' का जन्म 1908 ई0 में मुंगेर जिले के सिमरिया नामक गाँव में एक साधारण किसान परिवार में हुआ था। दिनकर को भारत सरकार ने 'पद्मभूषण' की उपाधि से सम्मानित किया। 'संस्कृति के चार अध्याय' नामक उनकी पुस्तक पर 'साहित्य-अकादमी पुरस्कार' और 'उर्वशी' पर उन्हें 'भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार' मिला।

दिनकर की प्रमुख गद्य-कृतियाँ हैं- 'शुद्ध-कविता की खोज', 'साहित्योंमुखी', 'दिनकर की डायरी', 'काव्य की भूमिका', 'रेती के फूल', 'मिट्टी की ओर', 'अर्धनारीश्वर' आदि जिनमें उनके विभिन्न विचारात्मक एवं समीक्षात्मक निबंध संग्रहीत हैं। उनकी प्रमुख काव्य-कृतियाँ हैं- 'रेणुका', 'हुंकार', 'रश्मिरथी', 'रसवंती', 'नीलकुसुम', 'कुरुक्षेत्र', 'उर्वशी' आदि।
 

Short Essay on 'Ramdhari Singh Dinkar' in Hindi | 'Ramdhari Singh Dinkar' par Nibandh (100 Words)SocialTwist Tell-a-Friend

1 comments:

Anonymous,  January 26, 2014 at 9:29 PM  

i like it

Post a Comment