Short Essay on 'Summer Season' in Hindi | 'Grishm Ritu' par Nibandh (200 Words)

Friday, July 19, 2013

ग्रीष्म ऋतु

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार वैशाख एवं ज्येष्ठ का माह भारत में ग्रीष्म ऋतु कहलाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार माह अप्रैल से मध्य जून की समयावधि ग्रीष्म ऋतु में आती है। इस ऋतु में रातें छोटी व दिन लम्बे होते हैं। इस ऋतु में सूर्योदय के साथ ही तपन बढ़ना प्रारंभ हो जाती है।

ग्रीष्म ऋतु अपने नाम के अनुसार गर्म व तपन से भरी मानी जाती है। पोखर व तालाब इत्यादि सूखने लगते हैं। अत्यधिक गर्मी पड़ने के कारण ही इसे ग्रीष्म नाम दिया गया है। ग्रीष्म ऋतु में सभी प्राणी गर्मी की मार से बेहाल हो जाते हैं। लू के थपेड़ों से जीना मुश्किल होने लगता है। हजारों लोगों की मृत्यु प्रति वर्ष भीषण गर्मी के कारण होती है। हालाँकि विज्ञान की प्रगति ने लोगों को गर्मी से बचने हेतु पंखा, कूलर एवं ए०सी० इत्यादि उपलब्ध करा दिया है, किन्तु गरीबों को यह सुविधा नहीं मिल पाती। गरीब व्यक्ति का जीवन आज भी प्रकृति की दया पर ही निर्भर है।

अत्यधिक गर्मी व तपन के कारण स्कूल एवं कॉलेज में छुट्टियाँ घोषित कर दी जाती है। कई कार्यालयों का समय परवर्तित कर प्रातःकाल से कर दिया जाता है। सड़कों में जगह-जगह शर्बत, लस्सी एवं कोल्ड-ड्रिंक के स्टाल सज जाते हैं। इस मौसम के विशेष फल 'आम' को बहुत पसंद किया जाता है। तरह-तरह की आइस-क्रीम सभी का मन लुभाती हैं। 


Short Essay on 'Summer Season' in Hindi | 'Grishm Ritu' par Nibandh (200 Words)SocialTwist Tell-a-Friend

16 comments:

Anonymous,  May 14, 2014 at 7:52 PM  

realyyyyyyyyyy................... useful.........

Anonymous,  May 24, 2014 at 5:01 PM  

a little short

Anonymous,  May 28, 2014 at 5:36 PM  

thank you

Saptarshi Sarkar June 1, 2014 at 10:57 AM  

It is good but could have been better if it was a little short

Anonymous,  June 16, 2015 at 4:36 PM  

its...................lovely hot

Anirudh Singh November 17, 2015 at 7:55 PM  

Itz awesome. ... nice and short....!!!!!

Yuvraj Kashyap May 8, 2016 at 1:22 PM  

Awesome helped in holiday homework

Unknown September 11, 2016 at 1:02 PM  

very useful keep up this practice......it helped my bro to complete his homework ...............thanks!!!!

Post a Comment