'Letter to Editor about negligence of Police' in Hindi | 'Police ki laparvahi ke sambandh men sampadak ko Patra'

Wednesday, February 19, 2014

पुलिस की लापरवाही के संबंध में एक शिकायती पत्र अख़बार के संपादक के लिए

सेवा में,
संपादक महोदय
दैनिक जागरण
दैनिक हिंदी समाचार पत्र
हज़रतगंज,
लखनऊ।

महोदय,
मैं आपके सम्मानित समाचार पत्र के माध्यम से आप सभी का ध्यान इस ओर आकृष्ट करना चाहता हूँ कि आजकल शहर में पुलिस की लापरवाही बढ़ती जा रही है। लोगों की शिकायतों पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। दिन-दहाड़े चोरी व लूटपाट की घटनाएं हो रही हैं। लोगों में भय की भावना बढ़ती जा रही है। पुलिस की तरफ से किसी प्रकार की करवाई नहीं की जा रही है। लोगों को कोई मदद भी नहीं मिल रही है।

आपके समाचार पत्र के माध्यम से मैं पुलिस अधीक्षक महोदय का ध्यान पुलिस की लापरवाही की ओर दिलाना चाहता हूँ। हम सभी का अनुरोध है कि शहर की पुलिस व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए ताकि लोगों का पुलिस पर विश्वास बन सके।

                                                                                                                                   प्रार्थी
                                                                                                                                   XXX
                                                                                                                       मकान संख्या- XXX,
                                                                                                                       इंदिरा नगर,
19 फरवरी, 2014                                                                                           
लखनऊ 

'Letter to Editor about negligence of Police' in Hindi | 'Police ki laparvahi ke sambandh men sampadak ko Patra'SocialTwist Tell-a-Friend

0 comments:

Post a Comment