'Letter to your Elder Brother thanking him for Educational Books sent by him' in Hindi | 'Bade Bhai dwara bheji gai Shikshaprad Pustakon ke liye Dhanyawad Patra'

Wednesday, February 5, 2014

बड़े भाई को उनके द्वारा भेजी गई शिक्षाप्रद पुस्तकों के लिए धन्यवाद पत्र

आदरणीय भाईसाहब,
सादर चरण स्पर्श।

हम सब यहाँ कुशलपूर्वक हैं तथा आशा करते हैं कि आप भी सकुशल होंगे। आपके द्वारा भेजी गई पुस्तकें मुझे प्राप्त हो गई हैं। आपने जो पुस्तकें भेजी हैं, वे बहुत ही शिक्षाप्रद हैं। मैं उन पुस्तकों को पढ़कर उनसे शिक्षा ग्रहण करने की पूरी कोशिश करूँगा। आशा है कि आप इसी प्रकार शिक्षाप्रद पुस्तकें भेजकर भविष्य में मेरा मार्गदर्शन करते रहेंगे।

आप द्वारा भेजी गई शिक्षाप्रद पुस्तकों के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद्। मम्मी-पापा की तरफ से स्नेहाशीष और मेरी ओर से आपको सादर प्रणाम।

                                                                                                                                   आपका अनुज
                                                                                                                                        XXX
                                                                                                                              मकान संख्या- XXX,
                                                                                                                              इंदिरा नगर,
05 फरवरी, 2014                                                                                                   
 लखनऊ 

'Letter to your Elder Brother thanking him for Educational Books sent by him' in Hindi | 'Bade Bhai dwara bheji gai Shikshaprad Pustakon ke liye Dhanyawad Patra'SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment