Short Essay on 'Jayaprakash Narayan' in Hindi | 'Jayaprakash Narayan' par Nibandh (225 Words)

Thursday, February 6, 2014

जय प्रकाश नारायण

'जय प्रकाश नारायण' का जन्म 11 अक्टूबर 1902 को सिताबदियारा, बिहार , भारत में हुआ था। उनके पिता का नाम हरषु दयाल श्रीवास्तव और माता का नाम फूल रानी देवी था। उनके पिता राज्य सरकार विभाग में एक कनिष्ठ अधिकारी थे। जय प्रकाश नारायण ने 1920 में प्रभावती देवी से विवाह किया था।

जय प्रकाश नारायण एक महान स्वतंत्रता सेनानी और राजनैतिक नेता थे। वह 'लोकनायक' के नाम से लोकप्रिय हुए। उन्हें लोगों के (लोक) नेता (नायक) के रूप में जाना जाता है। वह सदैव एक सामाजिक कार्यकर्त्ता के रूप में समर्पित रहे। उन्होंने भारत के गरीब और भूमिहीन लोगों को भूमि देने के लिए भूदान आंदोलन में भाग लिया था। उन्हें विशेष रूप से 1970 के दशक में इंदिरा गांधी के विरोध में शांतिपूर्ण संपूर्ण क्रांति के लिए याद किया जाता है।

जय प्रकाश नारायण एक लेखक भी थे। उनके निबंध 'बिहार में हिंदी की वर्त्तमान स्थिति' ने सर्वश्रेष्ठ निबंध का पुरस्कार जीता। लोकनायक जय प्रकाश नारायण को मरणोपरांत वर्ष 1999 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' से सम्मानित किया गया। उन्हें 1965 में 'रमन मैग्सेसे पुरस्कार' से भी सम्मानित किया गया था।

8 अक्टूबर 1979 को बिहार के पटना में जय प्रकाश नारायण का निधन हो गया। वह एक महान भारतीय हीरो थे और भारत के एक सच्चे देशभक्त एवं सर्वोदय नेता के रूप में उन्हें सदैव याद किया जायेगा।

Short Essay on 'Jayaprakash Narayan' in Hindi | 'Jayaprakash Narayan' par Nibandh (225 Words)SocialTwist Tell-a-Friend

1 comments:

Anonymous,  April 3, 2014 at 11:17 PM  

coooooool one.

Post a Comment